fbpx

About Me

Rashmi Bansal is a writer, entrepreneur and a motivational speaker. An author of 10 bestselling books on entrepreneurship which have sold more than 1.2 million copies ….

Learn More
signature

Category: Dainik Bhaskar

हर स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट्स को कोई छोटा बिजनेस करने का मौका मिलना चाहिए

01.06.2022 आजकल तरह-तरह की एग्जीबिशन लगती हैं। किताबों की, कपड़ों की, हैंडीक्राफ्ट की। एक नया ट्रेंड है स्टार्टअप एग्जीबिशन। यानी कि वो कम्पनियां जो हाल ….

टेक्नोलॉजी की लगाम हाथ में रहनी चाहिए। नहीं तो लुढ़क सकते हैं, चोट लग सकती है

18.05.2022 आज सुबह उठते ही आपने अपना फोन हाथ में उठाया होगा और एप्स की दुनिया में सफर शुरू। कुछ लोग जागते ही फिटनेस एप ….

मन के किसी कोने से शब्द उमड़ते हैं तब लगता है कि जैसे खुद सरस्वती हमसे लिखवा रही हैं एक महीने पहले

30.04.2022 आजकल हर गली-नुक्कड़ में कैफे खुल गया है। यहां तरह-तरह की चाय-कॉफी पीने वालों और गपशप करने वालों की भारी भीड़ रहती है। वैसे ….

जिन्हें हम अपने से अलग समझते हैं, उन्हें समाज से जोड़ना भी हमारी जिम्मेदारी है

15.04.2022 रोज दुनिया में हजारों-लाखों बच्चे जन्म लेते हैं। बड़े होकर समाज का हिस्सा बनते हैं, अपने लायक कोई काम पकड़ते हैं। कॉम्पीटिशन बहुत है, ….

नया विचार बदलाव सिर्फ ऊपर से फरमान देने से नहीं आता, प्रेशर नीचे से भी पड़ना चाहिए

03.02.2022   आजकल मुंबई और गुरुग्राम में इमारतें आसमान चूम रही हैं। अपनी बालकनी में चाय पीते-पीते इन बिल्डिंगों के वासियों को आम आदमी की ….

अगर आपको एक एक्स्ट्रा छुट्‌टी मिले, तो क्या करेंगे? मौज-मस्ती या कुछ नया

19.01.2022 सोमवार की सुबह, और बड़ी मुश्किल से आंख खुलती है। आखिर एक झुंझलाता हुआ प्राणी कंबल फेंककर बाथरूम की तरफ दौड़ता है। दस-बारह मिनट ….

कुछ नई चीजें सीखनी होंगी; मम्मियों को मिलना चाहिए ‘सुपरगृहिणी’ का खिताब

05.01.2022   मेज़ पर खाना लग चुका है- दाल, चावल, रोटी, सब्जी। कौन-सी सब्ज़ी- उफ, कद्दू! अम्मा, जरा-सा अचार दे दो, आज उसी के साथ ….

रात के उल्लू नहीं, सुबह की चहकती चिड़िया बनिए, मनोविशेषज्ञ सलाह देते हैं कि अपने मोबाइल को अलग कमरे में सुलाइए

04.01.2021 कल रात मुझे ठीक से नींद नहीं आई। काफी देर तक मैं करवटें बदलती रही। नींद से कहा-आ आ आजा, आ आ आजा, आ ….

मिस्र में टूरिस्ट एरिया के बाहर का ‘काहिरा’ काफी कुछ दिल्ली जैसा लगता है

24.11.2021 मुझे घूमने-फिरने का बहुत शौक है। मगर चाहे देश हो या विदेश, मैं सिर्फ स्मारक, संग्रहालय और सीनरी नहीं देखना चाहती। मैं शहरों की ….