fbpx

About Me

Rashmi Bansal is a writer, entrepreneur and a motivational speaker. An author of 10 bestselling books on entrepreneurship which have sold more than 1.2 million copies ….

Learn More
signature

Category: Dainik Bhaskar

130 करोड़ की जनसंख्या वाले देश को एथलेटिक्स में खास सफलता नहीं मिली, चैम्पियन बनाने की रणनीति- धैर्य और मेहनत

17.03.2021 आठ हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित इटेन कस्बा केन्या के किसी भी आम कस्बे की तरह मालूम पड़ता है। कच्ची-पक्की सड़क, आसपास मक्के ….

प्रॉब्लम्स के कूड़ेदान में उतरने की ठानें, क्योंकि समस्या का हल वही निकालता है, जिसमें जुनून हो

03.03.2021 आप नहा-धोकर प्रेस वाले कपड़े पहनकर, सुबह-सुबह घर से निकले। बिल्डिंग की लॉबी चकाचक है, कॉमन एरिया में माली पौधों को पानी दे रहा ….

इज्जत वो गहना है जो आंखों से नहीं दिखता, मगर दिल में सदा के लिए चमकता रहता है 2 महीने पहले

17.02.2021 आजकल प्यार के नाम पर लोग एक दूसरे को चॉकलेट, फूल और गिफ्ट कार्ड भेजते हैं। लेकिन प्रेम का सबसे क्लासिक प्रतीक है चमकता ….

हम अपने मन में बुरे ख्याल का एक बीज बोते हैं, कुल साल में वह बड़ा पेड़ बन जाता है

03.02.2021 यूं तो वॉट्सएप पर रोज ही दर्जनों वीडियो आते हैं पर यह कुछ अलग था। डॉक्टर साहब अपनी गाड़ी से लाइव इंटरव्यू दे रहे ….

विरासत की नाप-तौल करने की गुस्ताखी न करें, यह आने वाली पीढ़ियों की धरोहर है

20.01.2021 ‘अगर आप ईंट से पूछें, आप क्या चाहती हो, तो वो कहेगी, मुझे आर्च (मेहराब) पसंद है। आप कहोगे कि ये तो महंगा पड़ेगा, ….

जानवरों से हमारी पहचान है, उनके सामने आदर से नतमस्तक होंं, तभी इंसान कहलाने के लायक हैं

23.12.2020 ये उन दिनों की बात है जब अंग्रेजों का बोलबाला था और राजा-महाराजा भी हुआ करते थे। दोनों का एक कॉमन शौक था, शिकार ….

अगर औरत में चीनी की मिठास है, तो साथ ही लोहे जैसे शक्ति भी है; दोनों के साथ जंग लड़ो, और आगे बढ़ो

09.12.2020 उत्तर प्रदेश के एक कस्बे में चीनी की फैक्टरी मशीन का ब्रेकडाउन हो गया। इंजीनियर ने हाथ खड़े कर दिए, बोला कम से कम ….

प्रार्थना करें कि प्रेमचंद की ये कहानी बीते कल का किस्सा ही रहे

11.11.2020 प्रेमचंद की कहानियां सबने बचपन में स्कूल सिलेबस में ज़रूर पढ़ी होंगी। तब तो वो चैप्टर बड़े बोर लगते थे। एक तो हिंदी इतनी ….

आज हमारे ज्यादातर परिवार उस टूटे हुए जूते की तरह हैं, जिसे प्यार-समझदारी के धागे से सिलने की जरूरत है

28.10.2021 एक नौ साल का लड़का अपनी बहन का जूता मोची के पास लेकर गया। जूता फटा-पुराना था मगर सिलवाने के अलावा कोई चारा नहीं ….